गांव में पसरा है सन्नाटा, हिस्ट्रीशीटर विकास के घर के साथ साथ आसपास के 5 से 6 घरों से हुई थी पुलिस पर फायरिंग

उत्तर प्रदेश में कानपुर देहात के बिकरु गांव में गुरुवार रात एक बजे के आसपास शातिर बदमाश विकास दुबे के साथ हुई मुठभेड़ में डीएसपी समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। एक नागरिक समेत सात पुलिसकर्मी घायल हैं। घटना के बाददैनिक भास्करबिकरु गांव पहुंचा। यहां गांव की मुख्य सड़क से करीब200 मीटर दूरी परएक बड़ा सा अहाता बना हुआ है। जोकि गांव के बीच-ओ-बीच स्थित है। चारदीवारी और तारों से घिरे अहाते में एक बड़ा सा मकान है, यही मुख्य आरोपी विकास दुबे का घर है। घर के अगले बगल उसके खास रिश्तेदारों (पटीदार) के मकान हैं। जहां से पुलिस पर चौतरफा फायरिंग की गई। इस घटना के बाद से पूरे गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

यह विकास के घर का अहाता है। घटना के बाद पुलिसकर्मियों और मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ है।

घर पर विकास के बीमार पड़े हैं पिता, घर की नौकरानीके चेहरे पर कोई शिकन नहीं

अहाते से होते हुए जब हम बड़े से घर में घुसे तो लॉबी में एक पंखा टूटा हुआ पड़ा है। जबकि खिड़की के शीशे टूट कर बिखर गए हैं। अंदर गैलरी से जाकर आगे बड़ा सा आंगन है। साइड में ही किचन बना हुआ है। गैलरी के सामने ही दो बच्चे भूख से बिलख रहे थे। किचन से एक महिलाबच्चों के लिए सूखे उबले आलू और रोटी प्लेट में लगाकर लारही थी। पता चला कि, वह महिला बदमाश विकास की नौकरानी रेखा व उसके बच्चे हैं।

विकास की नौकरानी रेखा अपने बच्चों को खाना खिलाते हुए।

घर में सामान बिखरा पड़ा हुआ है। ऐसा लगता है कि, एनकाउंटर के बाद गुस्से में पुलिस वालों ने घर में तोड़फोड़ की है।रेखा ने बताया कि विकास के पिता रामकुमार यहां रहते हैं,जोकि काफी दिनों से बीमार हैं। पैरालिसिस से पीड़ित हैं। रेखा खुद को नौकरानी बता रही है। उसके पति कल्लू को पुलिस पकड़ कर ले गईहै।

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर में टूटे पड़े खिड़की के शीशे व जमीन पर पड़ा पंखा।

रेखा ने बताया कि विकास यहां काफी दिनों से नहीं आया। रात जब पुलिस घर में आई तो पता चला कि वह लोग विकास को ढूंढ रहे हैं। फिलहाल रेखा अब परेशान है कि पुलिस वालों नेघर में जो तोड़फोड़ की है। उससेनए सिरे से पूरे घर को संवारना पड़ेगा। हालांकि इस हत्याकांड से उसके चेहरे पर बहुत शिकन नहीं देखने को मिली।

विकास के घर के भीतर बिखरा पड़ा सामान।

विकास के सामने वाले घर में हुई सीओकी हत्या

विकास दुबे के घर के ठीक सामने200 मीटर पर उसके मामा प्रेम प्रकाश का घर है। प्रेम प्रकाश को पुलिस ने एनकाउंटर में सुबह सात बजे के करीब मार दिया है। जबकि उनका बेटा शशिकांत फरार है।दोनों घरों के बीच रोड है। इसी रोड पर पुलिस को रोकने के लिए जेसीबी को खड़ा किया गया था।

यह विकास के मामा प्रेम प्रकाश का घर है। यहीं कोने में डीएसपी देवेंद्र को गोली मारी गई।

शशिकांत के घरमें घुसते ही पहला कमरा है। जहां एक तख्त पर उसकी मांसुषमा पांडेय लेटी हैं और बेटे की बेगुनाही को लेकर लगातार बयान दे रही हैं। उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि उनके पति प्रेम प्रकाश को पुलिस ने मार दिया है।जबकि उसी कमरे में दूसरे तख्त पर शशिकांत की पत्नी रो रही है और सोए हुए बेटे को पंखा झल रही है। गैलरी से अंदर जाने पर बड़ा सा आंगन है, जहां दीवार से एक कोने पर ज्यादा से खून पड़ा हुआ है। पुलिस वालों ने बताया कि यहीं पर डीएसपी देवेंद्र मिश्र को गोली मारी गई है।

यह तस्वीर सुमन पांडेय की है। सुमन के पति प्रेम प्रकाश का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है। लेकिन इस बात की जानकारी सुमन को नहीं है।

पत्नी मनु ने बताया कि पति शशिकांत घड़ी डिटर्जेंट फैक्ट्री में काम करते थे। रात में ससुर भी आये हुए थे। वह उसी फैक्ट्री से जल्दी ही रिटायर हुए हैं। रात में जब गोलीबारी तकरीबन 12 से एकबजे के बीच होने लगी तो देखा कि आंगन में एक आदमी मरा हुआ पड़ा है। जबकि 2 आदमी बाहर मरे हुए पड़े हैं।

यह तस्वीर मनु की है। मारे गए प्रेम प्रकाश मनु के ससुर थे। उसका पति शशिकांत फरार है।

मनु ने बताया कि, गोलीबारी देख मेरे पति और ससुर भाग गए। हम लोगों ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। जबकि पुलिस वालों का मानना है कि इस घर से भी गोलीबारी हुई है। घात लगाने के उद्देश्य से जब सीओअंदर गए तो उन्हें गोली मार दी गई। आंगन में बिखरा हुआ खून इसकी गवाही दे रहा है। मनु ने यह भी बताया कि विकास कई दिनों से यहां रह रहा था। वह गांव में कोई सड़क बनवा रहा था जिसके लिए जेसीबी किराया पर मंगाई थी।

विकास व उसके मामा के घर के सामने वाली रोड पर जेसीबी खड़ी कर दी गई थी, ताकि पुलिस वालों को दबिश देने में परेशानी हो।

मनु के ससुर का हुआ एनकाउंटर

बिकरुगांव से ही थोड़ी दूर पर ही पुलिस ने हत्याकांड के बाद सुबह 7 बजे विकास के मामा प्रेम प्रकाशऔर उसके पट्टीदारी के भतीजे अतुल को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। मामा प्रेम कुमार पांडेय मनु के ससुर हैं। लेकिन परिवार को अभी उनके एनकाउंटर के बारे में नही पता चला है। बहरहाल, सास और बहू दोनों अपने पतियों के लौटने का इंतजार कर रही है।

यह तस्वीर विकास के पिता की है। वे लंबे समय से बीमार हैं। घर पर लेटे हुए मिले।

पुलिस पर 5 से 6 घरों से हमला हुआ

पुलिस देर रात जब सीओके नेतृत्व में गांव में पहुंची तब तक विकास को पता चल चुका था। विकास ने अपने घर मे और घर के सामने बने 5 से 6 घरों में भी असलहों के साथ आदमी तैयार कर रखे थे। पुलिस जब जेसीबी तक पहुंची तभी चौतरफा पुलिस पर फायरिंग शुरू हो गई। विकास की छत के अलावा अगल बगल के घरों से हुई फायरिंग की वजह से 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। जबकि इन घरों में रहने वाले लोग फरार हो गए हैं।

यह तस्वीर विकास के घर को जाने वाली मुख्य रोड है। गांव में हर तरफ फोर्स लगी है।

पुलिस ने किसी का मोबाइल जब्त किया तो किसी को बिठाया

पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए गांव के कई युवकों को पकड़ा है। इन सब पर आरोप है कि ये विकास के लिए काम करते हैं। जबकि कई युवकों के मोबाइल भी जब्त किए गए हैं। कुछ फरार है पुलिस उनको पकड़ने के लिए कॉम्बिंग कर रही है। बहरहाल, गांव में डर का माहौल बना हुआ है।

मुठभेड़ वाली जगह पर पड़ी बंदूक और खून के धब्बे।

गांव में पसरा सन्नाटा, कोई भी विकास के खिलाफ बोलने को तैयार नही

विकास की सरपरस्ती का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गांव में कोई भी विकास के खिलाफ बोलने को तैयार नही है। विकास के घर से दूर बने घरों में भी लोग अंदर दुबके हुए हैं। कोई भी यह नही बताने को तैयार है कि रात में क्या हुआ। गांव में कहीं कहीं कुछ घरों में महिलाएं ही दिख रही हैं।

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने घटनास्थल का लिया जायजा।

विकास का बड़ा बेटा विदेश में पढ़ रहा

विकास के घर मे काम करने वाली रेखा ने बताया कि विकास की पत्नी और दो बेटे लखनऊ में रहते हैं। हालांकि उसने कहा उसे लखनऊ कापता उसे नही मालूम है। रेखा ने बताया कि उनका बड़ा बेटा विदेश से एमबीबीएस कर रहा है जबकि छोटा बेटा लखनऊ में इंटर कर रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today यह तस्वीर कानपुर के बिकरु गांव में शातिर बदमाश विकास दुबे के घर की है। घर के बाहर गेट पर सीसीटीवी लगी है। इसी के बाहर जेसीबी लगाकर पुलिस वालों का रास्ता रोका गया था।

Disclaimer : Khabar247 lets you explore worldwide viral news just by analyzing social media trends. Tap read more at source for full news. The inclusion of any links does not necessarily imply any endorsement of the views expressed within them.

संबंधित ख़बरें