प्रदेश में कोरोना मरीज 13 हजार 370, एक दिन में 184 मरीज सामने आए, मुरैना में तीन दिन का कर्फ्यू लगा

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 13 हजार 370 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की सोमवार देर रात जारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में एक दिन में 184 लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की गई। हालांकि रविवार को कुल 221 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे।एक दिन मरीजों की संख्या 37 घटी है।

भोपाल में दूसरे दिन भी नए केस की संख्या में कमी आई है। अच्छी बात यह है कि बीते चार-पांच दिन से यहां पर कोरोना से मरने वालों की संख्या स्थिर बनी हुई है।

हालांकि इंदौर में तीन दिन में कोरोना के कारण 12 लोग अपनी जान गंवा चुकेहैं। अब तक इंदौर में कोरोना के कारण 226 लोगों की मौत हो चुकी है। यह प्रदेश में सर्वाधिक है।दूसरे दिन भी प्रदेश में 7 लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई। इधर चार दिन से मुरैना में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंगलवार से तीन दिन का कर्फ्यू लगा दिया गया है। सोमवार को संपूर्ण लॉकडाउन पहले ही कर दिया गया था, लेकिन सोमवार शाम 57 नए मरीज मिलने के बाद यह निर्णय लिया गया।कोरोना अपडेट्समुरैना में 57 मरीज मिले, तीन दिन का कर्फ्यू लगाया57 मरीजों के बाद प्रशासन ने शहर में तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया है। इस दौरान केवल दवा, दूध व सब्जी की दुकानें ही खुल सकेंगी। इसका आदेश कलेक्टर प्रियंकादास ने सोमवार देर रात जारी किए। मुरैना में चार दिन में 100 से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं। कर्फ्यू के दौरान बिना आवश्यक कार्य के कोई घर से नहीं निकल सकेगा। नगर निगम सीमा क्षेत्र में सभी व्यसायिक व व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं। यहां तक की थोक सब्जी मंडी भी बंद रखी गई है। हालांकि शहर में फल, दूध, सब्जी, मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप, बैंक खुले रहेंगे। अनुमति प्राप्त शादी समारोह में केवल 50 लोग ही शिरकत कर पाएंगे।

केंद्र सरकार ने ऑनलॉक-2 के लिए कुछ नियमित ट्रेनों को 1 जुलाई के बाद चलाने की अनुमति दे दी है। भोपाल मंडल में ट्रेनों को सैनिटाइज किया जाता हुआ।

इंदौर में चार, सागर, ग्वालियर और खरगौन में एक-एक मौतइंदौर में कोरोना के कारण मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। लगातार तीसरे दिन 4 लोगों को अपनी जान कोरोना के कारण गंवाना पड़ी है। मरीजों की संख्या भी 49 नए केस आने के बाद 4 हजार 664 पहुंच गई है। इधर भोपाल 24 मरीज के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 2 हजार 764 हो गई है। हालांकि भोपाल में मौत की संख्या 94 पर ही स्थिर बनी हुई है। सोमवार को जारी रिपोर्ट में प्रदेश में कुल मौतों का आंकड़ा 564 पहुंच गई है। प्रशासन ने इंदौर में चार मौत के अलावा सागर, ग्वालियर और खरगौन में एक-एक मौत कोरोना के कारण होने की पुष्टि की है।

प्रदेश में कुल एक्टिव कंटेंमेंट एरिया 1095प्रदेश में अब एक्टिव कंटेंमेंट एरिया 1095 हो गए हैं। कुल 115 मरीज ठीक होकर घर पहुंच गए। सोमवार शाम तक प्रदेश में कुल 3 लाख 53 हजार 612 लोगों के सौंपल लिए जा चुके हैं। सोमवार को कुल 8 हजार 776 लोगों के सैंपल लिए गए, इनमें से 8 हजार 592 लोगों की रिपोर्ट आ गई। कुल 184 लोगों में कोरोना होने की पुष्टि हुई। 98 सैंपल रिजेक्ट भी हो गए। पॉजिटिव होने की दर 2.09% है।

प्रदेश की अदालतों में सोमवार से काम शुरू हो गया। अभी 4 जुलाई तक पक्षकारों को आने की अनुमति नहीं है।

ग्वालियर में निगम आयुक्त के निज सहायक पॉजिटिव हुएग्वालियर में सोमवार को मिले 17 नए मरीजों में निगम आयुक्त के निज सहायक और चैन्नई से आए एयरक्राफ्टमैन शामिल हैं। फैमिली कोर्ट में स्टेनो के घर काम करने वाली महिला संक्रमित निकली। गुढ़ा निवासी महिला के नाना, मौसी के साथ ही मिलिट्री हास्पिटल में डिलीवरी के लिए भर्ती हुईं महिला के साथ रहे पति भी संक्रमित हैं। चंडीगढ़ से लौटे जवान व दिल्ली से आया 4 साल का मासूम भी संक्रमित निकला।

स्व-रोजगार में 10 हजार से अधिक महिलाओं ने पंजीयन करायामुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोगों को सस्ते मास्क उपलब्ध करवाने और महिलाओं को स्व-रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जीवन शक्ति योजना शुरू की गई है। योजना में 10 हजार से अधिक महिलाओं ने पंजीयन कराया है। नीमच निवासी रोशन मोदी ने इस योजना के तहत मास्क बनाकर मात्र कुछ ही दिन में 2 हजार 200 रूपए की कमाई घर बैठे की है। रोशन को 200 मास्क बनाने का आर्डर मिला था। उसने 200 थ्री लेयर मास्क बनाकर नगरपालिका नीमच में जमा किए।

भोपाल मंडल में ड्यूटी सफाई कर्मचारियों को चलित गाड़ियों में कोरोना संक्रमित यात्रियों से बचाव के लिए फुल बॉडी ड्रेस दी गई है।

रेलवे कर्मचारियों को पुल बॉडी ड्रेस दी गईभोपाल मंडल के यांत्रिक विभाग के सभी डिपों में हबीबगंज, इटारसी, भोपाल, बीना और गुना में और ड्यूटी सफाई कर्मचारियों को चलित गाड़ियों में कोरोना संक्रमित यात्रियों से बचाव के लिए फुल बॉडी ड्रेस दी गई है। इसके साथ रेल कर्मियों को 8 हजार 900 फेस मास्क बनाकर वितरित किए। सैनेटाइजेशन के लिए 30 नग बैकपैक स्प्रे पंप भी दिए गए हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today नीमच में 6 लोगो ने कोरोना से जंग जीत ली। इसमें 100 वर्षीय बुजुर्ग महिला भी शामिल हैं। स्वास्थ्य टीम ने महिला को एंबुलेंस में बैठाकर उनके घर के लिए उन्हें रवाना किया।

Disclaimer : Khabar247 lets you explore worldwide viral news just by analyzing social media trends. Tap read more at source for full news. The inclusion of any links does not necessarily imply any endorsement of the views expressed within them.

संबंधित ख़बरें