20-20 हजार के इनामी भू-माफिया सतबीर छाबड़ा और संदीप रमानी गिरफ्तार, 6 महीने से पुलिस को चकमा दे रहे थे

20-20 हजार के इनामी कुख्यात भू-माफिया सतबीर छाबड़ा और संदीप रमानी को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। डीआईजी ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि दोनों को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया। दोनों छह महीने से ज्यादा समय से फरार चल रहे थे। इनकी गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच की दिल्ली, पंजाब समेत कई राज्यों में डेरा डाले थी। सतबीर भू-माफिया बॉबी छाबड़ा का भाई है, जो फरवरी में गिरफ्तार हो चुका है। सतबीर के घर से दबिश में टीम को करीब10 संस्थाओं के रिकॉर्ड मिले थे। पुलिस तब से इसकी तलाश कर रही थी

बॉबी के भाई सतबीर, रमानी की तलाश में दिल्ली में दबिशबॉबी के भाई सतबीर सिंह छाबड़ा और मैनेजर रमानी की तलाश में क्राइम ब्रांच की टीम दिल्ली में डेरा डालेथी। 22 फरवरी को टीम काे सूचना मिली थी कि दाेनाें साउथ दिल्ली के एक रिहायशी इलाके में छिपे हैं। इस पर टीम ने फ्लैट और रिसॉर्ट में दबिश दी, लेकिन इससे चंद मिनट पहले ही दोनों भाग गए। एएसपी क्राइम राजेश दंडोतिया ने बताया कि सतबीर और रमानी पर 20-20 हजार रुपए का इनाम घोषित था।

पंजाब में भी दी थी दबिशक्राइम ब्रांच एएसपी राजेश दंडोतिया ने बताया कि बॉबी छाबड़ा के भाई सतबीर छाबड़ा और साथी संदीप रमानी के पंजाब में होने की सूचना मिली थी। कुछ टीमें चंडीगढ़, जालंधर, अमृतसर और दिल्ली रवाना की गईं। चंडीगढ़ में पुलिस उनके काफी करीब पहुंच गई थी, लेकिन वे निकल गए थे।

14 फरवरी को पुलिस ने किया था बॉबी का गिरफ्तारभूमाफिया बॉबी छाबड़ा को पुलिस ने 14 फरवरी को गिरफ्तार किया था। वह लंबे समय से फरार चल रहा था। पुलिस ने बॉबी पर 20 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर रखा था। पुलिस उसे जमीन पर अवैध कब्जा, अवैध निर्माण समेत अन्य मामलों में तलाश रही थी। भूमाफिया बाॅबी छाबड़ा के खिलाफ 10 साल पहले हाउसिंग सोसायटी की जमीनों की धोखाधड़ी, जालसाजी के मामलों में पुलिस-प्रशासन द्वारा जो एफआईआर दर्ज कराई गई थी, उन्हें निरस्त कराए जाने को लेकर एक याचिका भी दायर की गई थी। बॉबी पर पुलिस ने विभिन्न हाउसिंग सोसायटी में सदस्यता सूची में बदलाव कर नए लोगों को प्लाॅट देने, सोसायटी की जमीन बेचने समेत अन्य मामलों में पुलिस ने बाॅबी पर केस दर्ज किए थे। सहकारिता विभाग के अफसर भी बाॅबी के खिलाफ नवभारत, राजगृही, जागृति हाउसिंग सोसायटी में प्लाॅट की गड़बड़ी करने के आरोप में केस दर्ज कराने गए थे, लेकिन सहकारिता विभाग के दस्तावेज पूरे नहीं होने पर वापस लौट आए थे।

10 से ज्यादा केस हैं बाॅबी परजमीन की धोखाधड़ी में गिरफ्तार भूमाफिया बॉबी छाबड़ा पर 10 से ज्यादा आपराधिक केस दर्ज हैं। बॉबी को 20 मई 2010 को पुलिस ने पहली बार गिरफ्तार किया था। तब वह सविता गृह निर्माण संस्था का अध्यक्ष था। तब उस पर धोखाधड़ी, अमानत में खयानत और भ्रष्टाचार उन्मूलन अधिनियम में केस दर्ज किए गए थे। तब तत्कालीन आईजी संजय राणा की टीम ने बॉबी को राऊ के पास इसी तरह घेराबंदी कर दबोचा था जिस ढंग से शुक्रवार को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। दोनों ही गिरफ्तारियों में बॉबी के पकड़ाए जाने का तरीका भी लगभग समान है। गिरफ्तारी के बाद बॉबी को खजराना पुलिस ने 21 दिसंबर 2019 को दर्ज धोखाधड़ी के केस में 19 फरवरी तक रिमांड पर लिया है। ये केस रंजना पति सुरेश सभरवाल निवासी श्रीनगर ने दर्ज करवाया था। उनका आरोप था कि बॉबी छाबड़ा और दीपक जैन ने उन्हें वरीयता सूची से बेदखल कर उनके प्लॉट पर कब्जा कर लिया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today क्राइम ब्रांच की टीम ने दोनों को इंदौर स्थित घर के पास से गिरफ्तार किया।

Disclaimer : Khabar247 lets you explore worldwide viral news just by analyzing social media trends. Tap read more at source for full news. The inclusion of any links does not necessarily imply any endorsement of the views expressed within them.

संबंधित ख़बरें