अपहरण की 15 मिनट में मिली सूचना, शहर में 17 चेकपोस्ट, फिर भी दो दिन से विराट का पता नहीं

बिलासपुर. घर के बाहर खेल रहे बर्तन व्यवसायी के 6 वर्षीय बेटे विराट का दो दिन बाद भी सुराग नहीं लग सका है। विराट का शनिवार रात को कार सवार कुछ लोगों ने भाजपा कार्यालय के बाहर से अपहरण कर लिया था। चुनावी नाकाबंदी और जांच के बीच हुए इस अपहरण ने पुलिस को कटघरे में खड़ा कर दिया है। वहीं पुलिस मुख्यालय खुद इस पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहा है। डीजीपी ने बच्चे की तलाश के लिए प्रदेश स्तर पर एक अलग टीम का गठन किया है। ये टीम जल्द बिलासपुर पहुंच जाएगी।

सिविल लाइन और सिटी कोतवाली पुलिस की टीम को इस केस में अभी कोई सफलता नहीं मिली है। पुलिस टीम को मौके पर लगे सीसीटीवी के फुटेज पहले ही मिल चुके हैं। संदिग्ध और कार भी दिखाई दे रही है। रविवार को पुलिस पूरे दिन चेकिंग अभियान चलाती रही, लेकिन अभी तक उसके हाथ खाली हैं। एसपी अभिषेक मीणा के अनुसार पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। कुछ क्लू मिले हैं उनपर काम चल रही है। इधर भीड़ भरी जगह से बच्चे के अपहरण हो जाने से शहर में आक्रोश है।

शहर में चारों ओर चुनाव के कारण गाड़ियों की जांच के लिए 17 चेक पोस्ट बने हुए हैं, पर इनमें से कहीं पर वह कार नजर नहीं आई। जिस कार में विराट का अपहरण हुआ है उसमें काली फिल्म लगी हुई थी। चौक चौराहों पर खड़ी ट्रैफिक पुलिस को यह नजर नहीं आई। लोकसभा चुनाव के चलते नाकेबंदी कर गाड़ियों की तलाशी के आदेश हैं, पर इसे किसी ने नहीं रोका। घटना के 15 मिनट के भीतर ही पुलिस को अपहरण की सूचना मिल गई थी पर उनका पता नहीं लगा सकी। बिना नंबर की करबला की ओर से आई और नए बस स्टैंड की गई। रात को इस दौरान पुराने बस स्टैंड के पास पुलिस रहती है पर गाड़ी को नहीं रोका गया।

जिस कार में अपहरण हुआ है वह पुराने बस स्टैंड की ओर जाते नजर आ रही है। घटना के बाद पुलिस ने रातभर भाजपा कार्यालय से लेकर बस स्टैंड तक की दुकान व मकान में लगे सभी सीसीटीवी फुटेज निकाला है। इसमें कार बस स्टैंड के करीब नजर आ रही है। वहीं पता चला है कि विराट को अगवा करने आए लोग शुद्ध हिंदी में बात कर रहे थे। साथ खेल रहे बच्चों ने सुना। इससे उनके शहर के भी होने की आशंका होती है। अपहर्ताओं ने पूरी योजना बनाकर वारदात को अंजाम दिया है। विराट हर रोज शाम को घर के करीब ही अपने दोस्तों के साथ खेलता था।

इन्हें करें सूचित: एसपी अभिषेक मीणा ने अपहरण के संबंध में किसी भी तरह की जानकारी देने के लिए एएसपी ओपी शर्मा 9479193002,सीएसपी सिटी कोतवाली विश्वजीत त्रिपाठी के मोबाइल नंबर 9479193007 के अलावा सिटी कोतवाली थाना प्रभारी के मोबाइल नंबर 9479193018 या कंट्रोल रूम के मोबाइल नंबर 9479193099 पर सूचित किए जाने का आग्रह किया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today 6-year-old Virat of abducted from Bilaspur, has no clue even after two days