फैला अतिक्रमण, दुकानदारों के कब्जे से 40 फीट चौड़ी सड़क 10 फीट की ही बची

नगर के मुख्य मार्ग पर दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा है। फुटपाथ से लेकर सड़क तक वाहन खड़े रहने से आमजन परेशान हैं। सुवासरा मेन रोड से लेकर शिव हनुमान मंदिर तक अतिक्रमण से 40 फीट का रास्ता 10 से 15 फीट में ही सिमटकर रह गया है। बायपास नहीं होने से यातायात का दबाव भी मार्ग पर रहता है। वहीं अतिक्रमण के चलते आए दिन जाम लगने से छिटपुट हादसे में बाइक सवार चोटिल हो जाते हैं। नगर के मुख्य मार्ग पर फैले अतिक्रमण को लेकर जिम्मेदार नगर परिषद रसूखदारों पर कोई कार्रवाई नही कर रही है। वही शिव हनुमान मंदिर से सुभाष राणा तक मार्ग की दोनों साइडों पर उत्कृष्ट सड़क बना रही है। अतिक्रमण से हालात ऐसे हो गए हैं कि 40 फीट चौडा़ रास्ता 10 से 15 फीट में सिमट गया हैं। दुकानदारों व रसूखदारों ने स्थायी अतिक्रमण भी कर रखे हैं जिससे आए दिन जाम की स्थिति बनती है और विवाद होते हैं। मार्ग में हाथठेले व फेरी लगाकर व्यापार करने वाले के साथ बड़े दुकानदारों ने भी दुकान का सामान फुटपाथ पर जमा कर रखा है। मेन रोड होने व बायपास नहीं होने से यातायात व भारी वाहनों का दबाव अलग रहता है। इससे दुर्घटनाएं होती रहती हैं, वहीं पुलिस व जिम्मेदार नगर परिषद के कर्मचारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे है। नप के पूर्व भाजपा समर्थित उपाध्यक्ष कैलाश चौधरी और जगदीश के घर रास्ते में ही हैं। इनके भी टू व्हीलर व फोर व्हीलर वाहन सड़क पर बेतरतीब खड़े रहते हैं। मुख्य मार्ग पर दुकानदारों ने सामान रखकर किया अतिक्रमण। वाहन भी खड़े रहते हैं। भास्कर संवाददाता | शामगढ़ नगर के मुख्य मार्ग पर दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा है। फुटपाथ से लेकर सड़क तक वाहन खड़े रहने से आमजन परेशान हैं। सुवासरा मेन रोड से लेकर शिव हनुमान मंदिर तक अतिक्रमण से 40 फीट का रास्ता 10 से 15 फीट में ही सिमटकर रह गया है। बायपास नहीं होने से यातायात का दबाव भी मार्ग पर रहता है। वहीं अतिक्रमण के चलते आए दिन जाम लगने से छिटपुट हादसे में बाइक सवार चोटिल हो जाते हैं। नगर के मुख्य मार्ग पर फैले अतिक्रमण को लेकर जिम्मेदार नगर परिषद रसूखदारों पर कोई कार्रवाई नही कर रही है। वही शिव हनुमान मंदिर से सुभाष राणा तक मार्ग की दोनों साइडों पर उत्कृष्ट सड़क बना रही है। अतिक्रमण से हालात ऐसे हो गए हैं कि 40 फीट चौडा़ रास्ता 10 से 15 फीट में सिमट गया हैं। दुकानदारों व रसूखदारों ने स्थायी अतिक्रमण भी कर रखे हैं जिससे आए दिन जाम की स्थिति बनती है और विवाद होते हैं। मार्ग में हाथठेले व फेरी लगाकर व्यापार करने वाले के साथ बड़े दुकानदारों ने भी दुकान का सामान फुटपाथ पर जमा कर रखा है। मेन रोड होने व बायपास नहीं होने से यातायात व भारी वाहनों का दबाव अलग रहता है। इससे दुर्घटनाएं होती रहती हैं, वहीं पुलिस व जिम्मेदार नगर परिषद के कर्मचारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे है। नप के पूर्व भाजपा समर्थित उपाध्यक्ष कैलाश चौधरी और जगदीश के घर रास्ते में ही हैं। इनके भी टू व्हीलर व फोर व्हीलर वाहन सड़क पर बेतरतीब खड़े रहते हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today