प्लेन जब उड़ा तो शुरुआती दो मिनट तो सबकुछ ठीक था, लेकिन तीसरे मिनट पर आ गई एक इमरजेंसी कॉल और खत्म हो गया सबकुछ

इंटरनेशनल डेस्क. इथियोपिया में बीते रविवार (10 मार्च) को राजधानी अदीस अबाबा से केन्‍या की राजधानी नैरोबी के लिए उड़ा बोइंग कंपनी का 737 Max-8 मॉडल का विमान उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही क्रैश हो गया था। इस हादसे में चालक दल के आठ मेंबर समेत 35 देशों के 157 लोगों की मौत हो गई थी। इस हादसे के बारे में कुछ नई जानकारियां निकलकर आई हैं, जिन्हें अमेरिकी वेबसाइट 'द न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स' ने अपनी रिपोर्ट में छापा है। रिपोर्ट में पायलट और ATC मेंबर के बीच हुई बातचीत का ब्यौरा दिया गया है, जिसमें उस प्लेन के पायलट के आखिरी शब्द भी बताए गए हैं।

ये थे पायलट के आखिरी शब्द...

- रिपोर्ट के मुताबिक विमान के उड़ान भरने के थोड़ी देर बाद ही पायलट को इमरजेंसी का सामना करना पड़ा। ATC के साथ इथियोपियन एयरलाइंस की इस फ्लाइट नंबर 302 का संपर्क उड़ान भरने के 5 मिनट बाद ही टूट गया था।- ATC (एयर ट्रैफिक कम्‍युनिकेशन) के मुताबिक पायलट को उड़ान भरने के साथ ही गड़बड़ी का अहसास हो गया था। पायलट ने टेक-ऑफ करने के 3 मिनट बाद ही वापस लौटने के लिए इमरजेंसी लैंडिंग की परमिशन मांगी थी।- ATC के मुताबिक जब पायलट ने बात की, तो वो काफी घबराया हुआ था। पायलट की घबराहट की वजह ये थी कि उड़ान भरने के साथ ही विमान की स्पीड अचानक बढ़ गई थी।- हादसे से पहले पायलट के आखिरी शब्द थे, 'ब्रेक... ब्रेक... रिक्‍वेस्‍ट बैक टू होम' (रोको...रोको...वापस आने की अपील करता हूं) 'रिक्वेस्ट वेक्टर फोर लैंडिंग...'। जब प्‍लेन के कैप्‍टन ने 3 मिनट बाद फ्लाइट रिटर्न के लिए हड़बड़ाई आवाज में इजाजत मांगी तो कंट्रोलर्स समझ गए कि कुछ बड़ी दिक्‍कत है, लेकिन अगले दो मिनट बाद ही उनका संपर्क टूट गया और छठे मिनट में प्‍लेन क्रैश हो गया।

अचानक ऊपर-नीचे होने लगा था विमान

- एटीसी अधिकारियों के मुताबिक हादसे का शिकार हुआ बोइंग 737 मैक्‍स 8 एकदम नया था और उसके साथ कोई बहुत बड़ी गड़बड़ी भी नहीं हुई थी। टेक-ऑफ के पहले मिनट में सबकुछ ठीक था। रडार में भी प्‍लेन का ऑल्टिट्यूड एकदम ठीक नजर आ रहा था। टेक-ऑफ के दो मिनट बाद भी विमान एकदम सही ऑल्टिट्यूड पर उड़ान भर रहा था।- इसके बाद अगले ही मिनट कोई परेशानी आई और विमान ने एकदम से स्‍पीड पकड़ ली। तीसरे मिनट में कंट्रोलर्स ने ऑब्‍जर्व किया कि प्‍लेन ऊपर-नीचे हो रहा था और उसकी स्‍पीड भी सामान्‍य से कहीं ज्‍यादा थी।- कंट्रोलर्स को इमरजेंसी का अहसास हो चुका था, वे समझ गए थे कि फ्लाइट नंबर 302 के साथ कोई दिक्‍कत है। इसी दौरान दो इथियोपियन एयर लाइंस लैंडिंग के लिए एयरपोर्ट की ओर बढ़ रही थीं। लेकिन गंभीरता को समझते हुए कंट्रोलर्स ने उन्‍हें हायर ऑल्टिट्यूड पर रहने के लिए कह दिया था। इससे पहले कि फ्लाइट नंबर 302 वापस आ पाती उससे संपर्क टूट गया और वो क्रैश हो गई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today The captain of a doomed Ethiopian Airlines jetliner faced an emergency almost immediately after takeoff from Addis Ababa The captain of a doomed Ethiopian Airlines jetliner faced an emergency almost immediately after takeoff from Addis Ababa