शनिवार को हड़ताल पर रहेंगे लोहा व्यापारी, प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

इंदौर. प्रशासन की मनमानी के खिलाफ लोहा व्यापारियों ने मोर्चा खोल दिया है। शनिवार को शहर के लोहा व्यापारी एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। व्यापारियों का कहना है कि यदि शासन ने उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया तो यह हड़ताल अनिश्चित कालीन में बदल जाएगी।

व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष इशाक चौधरी का कहना है कि पुरानी लोहा मंडी में छोटे-बड़े कुल 866 व्यापारी है जिसमें से नई लोहा मंडी में सिर्फ 323 व्यापारियों को ही प्लाट का आवंटन किया गया है। अब प्रशासन ने आदेश निकालकर पुरानी लोहा मंडी से कामकाज पूरी तरह से बंद करने को कहा है। इसके साथ ही यहां ट्रकों के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया गया है। ऐसे में वह व्यापारी जिन्हें स्कीम नंबर 78 की नई लोहा मंडी में प्लाट नहीं मिले हैं वह कहां जाए। ऐसे व्यापारियों की संख्या 543 है। इन व्यापारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है।

शासन के इस कदम का विरोध करने के लिए लोहा व्यापारियों ने हड़ताल करने का निर्णय लिया है। शनिवार को लोहा व्यापारी एक दिन की सांकेतिक हड़ताल करेंगे। यदि शासन ने उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया तो यह हड़ताल अनिश्चित काल के लिए लागू कर दी जाएगी। लोहा व्यापारियों द्वारा हड़ताल करने से शासन को प्रतिदिन लगभग 1 करोड़ रुपए के राजस्व की हानि होगी।

13 साल में 6 कलेक्टर बदल गए पर कोई शिफ्ट नहीं करा सका

ये भी पढ़ें

इल्वा स्कूल में धरने पर बैठे लोहा व्यापारी एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष

2006 में आईडीए द्वारा शहर की ट्रैफिक समस्या को हल करने के लिए लोहा मंडी को स्कीम 78 में शिफ्ट करने के लिए 323 व्यापारियों को प्लॉट आवंटित कर दिए थे। 13 साल बीतने के बावजूद वहां गिनती के ही व्यापारी पहुंचे और सारा कारोबार जूनी इंदौर क्षेत्र की लोहा मंडी से ही चलाते रहे। तब से अब तक 6 कलेक्टर बदल गए लेकिन मंडी शिफ्ट नहीं हो सकी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today mp news indore metal traders on strike on saturday to protest against administration