रेड सिग्नल ने बचाई कइयों की जान, महिला यात्री की जिद्द पड़ी ड्राइवर को भारी

मुंबई. कुर्रा रोड पर बने छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) के फुट ओवरब्रिज का स्लैब गुरुवार रात ढह गया। इसमें 4 महिलाओं समेत 6 लोगों की मौत हो गई है। सीएसटी के बाहर बने इस ब्रिज के गिरने से हादसा और भीषण हो सकता था। अगर ब्रिज से ठीक पहले का सिग्नल रेड न हुआ होता।

ये भी पढ़ें

छत्रपति शिवाजी स्टेशन के पास फुट ओवर ब्रिज का हिस्सा गिरा, 3 महिलाओं समेत 6 की मौत

जानकारी के मुताबिक, हादसा शाम 7.20 बजे हुआ। अगर उस समय 60 सेकेंड की रेड लाइट न होती तो इस ब्रिज के नीचे से कई कारें, मोटरसाइकिल और अन्य दूसरे वाहन गुजरते और वे हादसे का बन सकते थे। कहा जा रहा है कि इस हादसे में वे ही लोग ज्यादा घायल या मृत हुए हैं जो ब्रिज के ऊपर चल रहे थे। हादसे के वक्त पुल के नीचे कुछ ठेले वाले और एक कार खड़ी थी।

महिला यात्री की जिद पड़ी टैक्सी डाइवर को महंगी

पुल के गिरने से मोहम्मद अख्तर अंसारी की टैक्सी (एमएच-01-2685) बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। अंसारी ने आंखों देखी बयान करते हुए बताया, "चर्चगेट से एक महिला को माहिम छोड़ने के लिए वह निकले थे। चर्चगेट से वह मरीन ड्राइव के मार्ग से माहिम जाना चाहते थे, किंतु महिला ने सीएसटी स्टेशन होकर माहिम चलने को कहा। महिला की बात मान कर मार्ग बदलने ने ही उन्हें मौत के नजदीक पहुंचा दिया था। अंसारी ने कहा कि लेफ्ट टर्न मार ही रहे थे कि पुल का हिस्सा टैक्सी की बोनट पर आ गिरा।" दुर्घटना में अंसारी व गाड़ी में सवार महिला को चोट नहीं आई है।

हादसे वाले ब्रिज पर पछले दो साल से आत्माराम येगे केला बेचने का काम कर रहे हैं। हादसे के वक्त भी वे पुल पर ही मौजूद थे। ब्रिज के स्लैब के साथ नीचे गिर पड़े। उन्हें गंभीर चोट आई है और फिलहाल वह जीटी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, अब वे खतरे से बाहर हैं।

कसाब पुल के नाम से फेमस था यह ब्रिजयह पुल 1980 में बना था। पिछले साल स्ट्रक्चरल ऑडिट में इसे फिट बताया गया था। यह वही पुल है, जिससे होते हुए 26/11 के हमले के दौरान आतंकी अजमल कसाब सीएसटी से निकल गया था। उसके बाद लोग इसे 'कसाब पुल' भी कहते हैं।

कसाब ब्रिज के नाम से फेमस था यह एफओबीमुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन के पास जो फुटओवर ब्रिज गिरा है उसे 'कसाब ब्रिज' के नाम से भी जाना जाता है। 26/11 मुंबई हमले के दौरान आतंकी अजमल कसाब सीएसटी से मोकामा की तरफ इसी ब्रिज के सहारे गया था। कसब और उसके एक साथी ने इसी पुल से हथगोले फेंके और गोलीबारी की थी।

देवेंद्र फडणवीस ने जांच के आदेश दिएमहाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने फुट ओवर ब्रिज हादसे को लेकर हाई लेवल जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि इस फुट ओवर ब्रिज का अभी कुछ दिन पहले ही ऑडिट किया गया था। उसके बाद भी इस तरह का हादसा ऑडिट के ऊपर गंभीर सवाल खड़े करता है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today क्रेन के सहारे ब्रिज के बाकी स्लैब को नीचे गिराया गया। ड्राइवर मोहम्मद अख्तर अंसारी।