नयनतारा ने कहा- असहिष्णुता नहीं प्रत्यक्ष तानाशाही का सामना कर रहा है देश

अभिनेता निर्देशक अमोल पालेकर को रोके जाने और उन्हें अपनी बात पूरी नहीं करने देने की कई अवार्ड से सम्मानित लेखिका नयनतारा सहगल ने आलोचना की है।