#HumanStory: लेखक बनने का है सपना, कैंसर से जूझते हुए 15 साल की उम्र में लिखी किताब

अब मैं दसवीं के छात्र से कैंसर का मरीज बन चुका था. हिंदी, इंग्‍लिश, साइंस और मैथ्‍स के नोट्स को याद रखने की जगह अलग-अलग एंटीबायोटिक्‍स के नाम रटने लगा था.