पनडुब्बियों से माफिया निकाल रहा रेत विभाग सिर्फ ट्राॅलियां पकड़ने में ही लगा

सर्दियों में सिंचाई के साथ ही नदियों में पानी कम हो गया और माफिया रेत निकालने में व्यस्त है। बगैर डर के माफिया जिलेभर में नदियों का सीना छलनी कर रहा है। कलेक्टर ने रेत माफिया पर कार्रवाई के आदेश दिए तो खनिज विभाग की टीम ने ट्रैक्टर-ट्रालियों की जांच शुरू कर दी। उधर नदियों में जेसीबी और पनडुब्बी से रेत निकाली जा रही है। जबकि खनिज विभाग शहर से गुजरने वाली ट्रालियों पर कार्रवाई कर रहा है। ताकि औपचारिकता पूरी हो सके। इसी के तहत खनिज विभाग के अधिकारियों ने निरीक्षण किया। राजस्व और पुलिस विभाग के संयुक्त समन्वय से जिले में कार्रवाई की जा रही है। जिला खनिज अधिकारी रमेश पटेल ने बताया कि रात में पांच ट्रैक्टर-ट्रालियों को अवैध खनिज परिवहन करते पाया। ट्राॅलियों को जब्त कर थानों को सुपुर्द किया गया है। दो पीतल मील और रंगई से दो-दो रेत की और अहमदपुर रोड पर एक ट्राली अवैध फर्शी पत्थर परिवहन करते पाए जाने पर कार्रवाई की गई है। शनिवार को गंजबासौदा में कलेक्टर ने रिपटा घाट का निरीक्षण किया और बेतवा और उसकी सहायक नदियों में चल रहे अवैध उत्खनन के मामले में राजस्व अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि कहीं से भी अवैध उत्खनन की शिकायत नहीं आनी चाहिए। यदि अवैध उत्खनन की शिकायत मिलती है तो उस पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने मीडिया कर्मियों से भी कहा कि कार्रवाई के लिए सीधे उनसे संपर्क कर सकते हैं। गंजबासौदा में कलेक्टर ने मीडिया से कहा-अवैध उत्खनन करने की शिकायत पर होगी कार्रवाई, लेकिन हिनोतिया गांव में 3 पनडुब्बी से रोज निकाली जा रही रेत खनिज विभाग का अमला पकड़ रहा सिर्फ ट्रैक्टर-ट्राली। देखिए कलेक्टर साहब... यहां चल रही पनडुब्बी, रोज निकाली जा रही 300 ट्रॉली रेत बाह्य नदी के किनारे हिनोतिया गांव के पास अवैध ढंग से बड़े स्तर पर रेत निकाली जा रही है। यहां तीन पनडुब्बी नदी में लगाई गई हैं। इनकी मदद से रोजाना करीब 250 से 300 ट्राली रेत निकाली जा रही है। खासबात यह है कि यहां पिछले कई दशकों से अवैध काम हो रहा है लेकिन अब प्रशासन और खनिज अमला कार्रवाई नहीं कर सका है। बताया जा रहा है कि यहां एक नेता के इशारे पर यह काम हो रहा है। अधिकारी भी यहां जाने से डर रहे हैं। नदी पर पहुंचने वाले रास्ते माफिया ने बंद कर रखे हैं। हिनोतिया गांव में बगैर डर के माफिया रेत निकाल रहा है। रोजाना रेत निकाली जा रही है लेकिन अब तक किसी भी अधिकारी ने यहां कोई कार्रवाई नहीं की है। इस वजह से माफिया के हौसले बुलंद हैं। खाई बने नदी के किनारे मशीनों से अनवरत खुदाई की वजह से किनारे खाई में तब्दील हो रहे हैं। जिन्हें भरने में समय लगेगा। ऐसी गहरी खदानों को देखकर यह साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह काम मजदूरों ने नहीं बल्कि मशीनों से किया जा रहा है। विभाग को एक ही काम फिर भी नहीं होती कार्रवाई खनिज विभाग का एकसूत्रीय कार्य है। विभाग को केवल खनिज संसाधनों पर नियंत्रण रखना है। विभागीय अधिकारी या स्टाफ के पास न कोई प्रोटोकाल ड्यूटी है, न कोई वीआईपी विजिट की जिम्मेदारी है। यहां तक कि जनसमस्या निवारण शिविर आदि में भी विभाग का कोई स्टाल नहीं लगता। एक सूत्रीय कार्य होने के बाद भी विभाग का अमला, स्टाफ की कमी का रोना रोकर जिम्मेदारी से बचने का प्रयास करता है। जिले में 100 पनडुब्बी से 1 हजार डंपर रेत का अवैध कारोबार जारी जिले में रेत माफिया की 100 से ज्यादा पनडुब्बी नदियों से रेत निकालने का अवैध काम कर रही हैं। जानकारी के अनुसार जिले में अवैध तरीके से एक हजार डंपर रेत निकालने का कारोबार हो रहा है। सबसे ज्यादा सक्रिय माफिया कुरवाई क्षेत्र में हैं। यहां बड़े स्तर पर माफिया सक्रिय हैं। माफिया रेत के अवैध उत्खनन में सक्रिय हैं। लगातार करेंगे कार्रवाई रेत माफिया के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी रहेगी। इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। लगातार कार्रवाई की जा रही है और आगे भी होगी। कौशलेंद्र विक्रमसिंह, कलेक्टर

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Vidisha News - mp news mafia fired from the submarines the sand department was just catching trolleys Vidisha News - mp news mafia fired from the submarines the sand department was just catching trolleys