जांच और मौके पर जाए बगैर बनाई सूची, हजारों मतदाताओं के नाम 2 से 5 बार

शहर की विभिन्न विधानसभाओं में कई पोलिंग बूथ ऐसे हैं, जिनके मतदाताओं को विस्थापित कर दिया गया है। मतदाता सूची के हिसाब से वहां मतदाता रहते ही नहीं। जैसे भूरी टेकरी, नैनोद क्षेत्र का मामला ही लें तो यहां कई क्षेत्रों से विस्थापित होकर लोग रहने आए हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें